Glaucoma Jingles written by Dr Kapil Midha and sung by 5 Ophthalmologists{ Dr Ashish Lall, Dr Parul Soni, Dr Neeraj Sanduja, Dr Dheeraj Gupta and himself} on the occasion of Glaucoma Walk. Every one is welcome to use these jingles for patient info.
ग्लूकोमा वाक। आओ करें वाक पे थोडी टॉक
कला मोतीआ चुरा लेगा नज़र ; दोस्तों थोरा ध्यान दे दो इधर।
क्या होता है ग्लूकोमा , आओ ज़रा हम जान लें
इस नज़र के चोर को , थोडा हम पहचान लें
आँखों में होता एक द्रव्य , जिसको कहते अकुएस ह्यूमर
बनता है , बाहर निकलता है , उसका होता है एक प्रेशर
बीस समझ लो , बीस समझ लो; आसानी के लिय बीस समझ लो
बीस के नीचे है वो अमृत , ऊपर जाये तो थोडा सा डर लो
बाहर निकलने का रास्ता द्रव्य का , हो जाता है जब वो तंग
बढ़ जाता है प्रेशर नेत्र में , खतरा ग्लूकोमा का लाता संग
नेत्र तंत्रिका , ऑप्टिक नर्व ; पर होता है जब प्रेशर अटैक
क्षति पहुंचती उसको गहरी ,ग्लूकोमा का यह परिचय स्टैक
धीरे धीरे , चुपके से ; विसुअल फील्ड ख़राब हो गई
क्या होती है विसुअल फील्ड , जार हमें बताओ तो सही
हमारी दृष्टि, ऊपर नीचे ; चारों और , यह होती है विसुअल फील्ड
दीमक जैसे खा जाती हो, होती जाती दृष्टि किल्ड।
आँख में प्रेशर , नेत्र तंत्रिका , और आपकी विसुअल फील्ड
ग्लूकोमा के यह तीन द्योतक , नेत्र चिकित्सक आपकी शील्ड
कोई कैसे यह जाने , काले मोतिए को कैसे पेहचाने
सुनिए , अपनी दृष्टि के लिय , न करिये अब कोई बहाने
उम्र हो गई चालीस साल , चाहे काले हों आपके बाल
परिवार में किसी को हो ग्लूकोमा, तो अपनी टेस्टिंग कभी मत टाल
चस्मे के नंबर अगर, जल्द बदल जातें हैं दोस्त
शुगर , bp का अगर , कोई पेशेंट है तो कर लो नोट
सतरंगी दिखता अगर है बल्ब तुझे तो देर न कर
काला मोतिए चेक करवा, विज़न से अपनी खिलवार न कर
खबरदार नहीं, होशिआर हो तुम,
जानते हो सब, तैयार हो तुम
आओ तुमको और बताएं , ग्लूकोमा आज पूरा समझाएँ
रेगुलर eye चेक अप करवा कर , इस डर को हम दूर भगाएं
साइंस ने कर ली अजब तरक्की , काला मोतिआ नहीं अविजेय
समय से पता चल जाये तो, इसकी कर सकते पराजय
Eye ड्रॉप्स से, लेज़र से, और शलय चिकित्सा से ; अब हम हैं लैस
ग्लूकोमा को हम सकते पछाड़ , नहीं है इसमें कोई भी बहस।
इतना सा है करना काम, ग्लूकोमा का होगा काम तमाम
जैसे करते बीपी चेक , शुगर का अपनी रखते ध्यान
नेत्र चिकित्सक को दिखा तो यारो, आई प्रेशर चेक करा लो प्यारो
४० के बाद , ज्यादा रखो ध्यान ; दृष्टि चोर भगाओ दुलारो
हज़ारों लोगो ने है खो दी, अपनी दृष्टि अनजाने में
और नहीं होगी ये गलती , क्या रखा पछताने में
ग्लूकोमा डे का है यह नारा,आपकी दृष्टि रहे सुरक्षित
आई चेक अप है सुरक्षा चक्र , दुश्मनो से हमें रखता परिचित
आई प्रेशर, नेत्र तंत्रिका , और हमारी विसुअल फील्ड
ग्लूकोमा के तीन द्योतक , नेत्र चिकित्सक आपकी शील्ड। more  

View all 6 comments Below 6 comments
Very useful & educative advice more  
Thanks to all friends who liked this post. more  
thanks for very educative poem. more  
Excellent. Thank you very much.
I think if for words like "अकुएस ह्यूमर ", it would be better to give the word in English along with in Hindi.
(Like "aquous humour"? I don't know if it is correct). more  
Post a Comment

Related Posts

Share To
Enter your email & mobile number and we will send you the instructions

Note - The email can sometime gets delivered to the spam folder, so the instruction will be send to your mobile as well

Please select a Circle that you want people to invite to.
Invite to
(Maximum 500 email ids allowed.)