Glaucoma Jingles written by Dr Kapil Midha and sung by 5 Ophthalmologists{ Dr Ashish Lall, Dr Parul Soni, Dr Neeraj Sanduja, Dr Dheeraj Gupta and himself} on the occasion of Glaucoma Walk. Every one is welcome to use these jingles for patient info.
ग्लूकोमा वाक। आओ करें वाक पे थोडी टॉक
कला मोतीआ चुरा लेगा नज़र ; दोस्तों थोरा ध्यान दे दो इधर।
क्या होता है ग्लूकोमा , आओ ज़रा हम जान लें
इस नज़र के चोर को , थोडा हम पहचान लें
आँखों में होता एक द्रव्य , जिसको कहते अकुएस ह्यूमर
बनता है , बाहर निकलता है , उसका होता है एक प्रेशर
बीस समझ लो , बीस समझ लो; आसानी के लिय बीस समझ लो
बीस के नीचे है वो अमृत , ऊपर जाये तो थोडा सा डर लो
बाहर निकलने का रास्ता द्रव्य का , हो जाता है जब वो तंग
बढ़ जाता है प्रेशर नेत्र में , खतरा ग्लूकोमा का लाता संग
नेत्र तंत्रिका , ऑप्टिक नर्व ; पर होता है जब प्रेशर अटैक
क्षति पहुंचती उसको गहरी ,ग्लूकोमा का यह परिचय स्टैक
धीरे धीरे , चुपके से ; विसुअल फील्ड ख़राब हो गई
क्या होती है विसुअल फील्ड , जार हमें बताओ तो सही
हमारी दृष्टि, ऊपर नीचे ; चारों और , यह होती है विसुअल फील्ड
दीमक जैसे खा जाती हो, होती जाती दृष्टि किल्ड।
आँख में प्रेशर , नेत्र तंत्रिका , और आपकी विसुअल फील्ड
ग्लूकोमा के यह तीन द्योतक , नेत्र चिकित्सक आपकी शील्ड
कोई कैसे यह जाने , काले मोतिए को कैसे पेहचाने
सुनिए , अपनी दृष्टि के लिय , न करिये अब कोई बहाने
उम्र हो गई चालीस साल , चाहे काले हों आपके बाल
परिवार में किसी को हो ग्लूकोमा, तो अपनी टेस्टिंग कभी मत टाल
चस्मे के नंबर अगर, जल्द बदल जातें हैं दोस्त
शुगर , bp का अगर , कोई पेशेंट है तो कर लो नोट
सतरंगी दिखता अगर है बल्ब तुझे तो देर न कर
काला मोतिए चेक करवा, विज़न से अपनी खिलवार न कर
खबरदार नहीं, होशिआर हो तुम,
जानते हो सब, तैयार हो तुम
आओ तुमको और बताएं , ग्लूकोमा आज पूरा समझाएँ
रेगुलर eye चेक अप करवा कर , इस डर को हम दूर भगाएं
साइंस ने कर ली अजब तरक्की , काला मोतिआ नहीं अविजेय
समय से पता चल जाये तो, इसकी कर सकते पराजय
Eye ड्रॉप्स से, लेज़र से, और शलय चिकित्सा से ; अब हम हैं लैस
ग्लूकोमा को हम सकते पछाड़ , नहीं है इसमें कोई भी बहस।
इतना सा है करना काम, ग्लूकोमा का होगा काम तमाम
जैसे करते बीपी चेक , शुगर का अपनी रखते ध्यान
नेत्र चिकित्सक को दिखा तो यारो, आई प्रेशर चेक करा लो प्यारो
४० के बाद , ज्यादा रखो ध्यान ; दृष्टि चोर भगाओ दुलारो
हज़ारों लोगो ने है खो दी, अपनी दृष्टि अनजाने में
और नहीं होगी ये गलती , क्या रखा पछताने में
ग्लूकोमा डे का है यह नारा,आपकी दृष्टि रहे सुरक्षित
आई चेक अप है सुरक्षा चक्र , दुश्मनो से हमें रखता परिचित
आई प्रेशर, नेत्र तंत्रिका , और हमारी विसुअल फील्ड
ग्लूकोमा के तीन द्योतक , नेत्र चिकित्सक आपकी शील्ड। more  

View all 6 comments Below 6 comments
Very useful & educative advice more  
Thanks to all friends who liked this post. more  
thanks for very educative poem. more  
Excellent. Thank you very much.
I think if for words like "अकुएस ह्यूमर ", it would be better to give the word in English along with in Hindi.
(Like "aquous humour"? I don't know if it is correct). more  
Post a Comment

Related Posts

Share
Enter your email and mobile number and we will send you the instructions

Note - The email can sometime gets delivered to the spam folder, so the instruction will be send to your mobile as well

All My Circles
Invite to
(Maximum 500 email ids allowed.)