Ministry of Road Transport and Highways

https://s3-ap-southeast-1.amazonaws.com/localcircles-s/img/localcircles_b_logo.jpg 0 000
Ministry of Road Transport and Highways
2.73 / 5 22 Reviews
New Delhi
India
2.7322
2.73
six lane project from jalandhar to phagwara especially PAP CHOWK to RAMA MANDI chowk remains terribly same incomlete as was 3 years ago during manmohan singh regime'
Lot of improvement on NHAI. Road accidents happen due the over speed and carelessness of the drivers. Highway authorities have facilitated warning signs and guards fencing done. Accident prone zones are also declared but people don't care for their own lives.

------- Edited on 2019-03-17 -------

सड़क दुर्घटनाओं की संख्या आपलोगों को पता ही है। मेरे पास एक मोटरसाइकिल चलाने का अनुभव 18 साल का है। मोटरसाइकिल के लिए जेनरल इंश्योरेंस पॉलिसी लेना कानूनी रूप से अनिवार्य है और ये अनिवार्यता थर्ड पार्टी के लिए ही है । जहां तक मुझे पता है । मुझे लगता है कि ये मौलिक अधिकारों के विरुद्ध है। यदि दुर्घटना में एक मोटरसाइकिल चालक घायल या मृत हुआ तो उसे या उसके परिजनों को तब तक कोई आर्थिक लाभ नहीं मिलता है जब तक कि वह घायल या मृतक टक्कर मारकर भागने वाले वाहन की रजिस्टेशन संख्या (नम्बर) सबूत व गवाहों के साथ न्यायालय में पेश नहीं करता है। मैं 20/05/2015 को दुर्घटना का शिकार हुआ था। 6 दिनों तक आईसीयू में रहा था। चार महीनों तक मेरी याददाश्त नहीं रही तो हम जैसे लोग कहां से टक्कर मार कर भागने वाले वाहन की संख्या और सबूत जुटा सकते हैं? कृपया इस जेनरल इंश्योरेंस को वाहन चालक के लिए अनिवार्य करने की कृपा करेंगे। अभी मैं एक स्टार से ही रेटिंग करने के लिए बाध्य हूं क्योंकि ये मेरे अनुभव पर आधारित है। मेरा इलाज गुरुग्राम, हरियाणा के नीलकंठ हॉस्पिटल में हुआ था। FIR नम्बर -0018 है। मुझे बाद में जानकारी मिली कि हॉस्पिटल ने कहा कि पहले दस हजार रुपए जमा करो फिर मरीज का इलाज शुरू करूंगा। क्या लाभ है इस जेनरल इंश्योरेंस से एक ईमानदार, गरीब और कम पढ़े लिखे लोगों को? मृतक को छोड़कर चलते हैं जीवित व्यक्ति की ओर । सड़क दुर्घटना के बाद सर(माथा) फूट गया तो महीनों या सालों बेरोजगारी में रहा । जहां काम करता था वहां के लोग समझ गए कि यह आदमी अब दिमागी तौर पर पहले जैसा सक्षम नहीं है। तो रोजगार गई । अब वह घायल कहां से अपने परिजनों का पालन करेगा? अपना उपचार कराने के लिए कहां से धन लाएगा? खैर हमारे सड़क पर दुर्घटना से मरे या घायल हुए लोगों को कौन देखता है?? हां उस दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति का मोबाइल फोन वगैरह लेकर भाग जाते हैं हमारे देश या समाज के लोग । यहाँ बस एक ही बात स्पष्ट दिखाई देता है "जिसका कोई नहीं उसका तो खुदा है यारों " । फिर ऐसे दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति के हिट एंड रन बनाकर पेश हुए एफआईआर को देखते ही कोई वकील मुकदमा दर्ज करने के लिए तैयार नहीं होता है। कृपया ध्यान देने की बात है कि मेरे मित्र वकील हैं और दुर्घटना के बाद सबसे पहले वकील मित्र को ही फोन किया गया नीलकंठ हॉस्पिटल के डॉक्टर के द्वारा ।
It failed to realise the financial liability of the citizens who owns good quality vehicles complying with all norms and now have been asked/compelled to sacrifice their long term investment because a personal vehicle has attained a life of 15 years. There are many vehicle owners in the age group of 50 years when they got vehicles registered with the hope that they can live their life independently but now they are in a mess with no money to invest in the car at the age of 65 years.
Ok

Related Ratings

Department of Ayurveda, Yoga and Naturopathy, Unani, Siddha and Homoeopathy (AYUSH)
2.93 / 5 17 Reviews
New Delhi, India
Ministry of Skill Development and Entrepreneurship
2.71 / 5 16 Reviews
New Delhi, India
Ministry of Statistics and Programme Implementation
3.83 / 5 8 Reviews
New Delhi, India
Ministry of Youth Affairs and Sports
3.60 / 5 7 Reviews
New Delhi, India
Ministry of Law and Justice
2.33 / 5 7 Reviews
New Delhi, India
Ministry of Housing and Urban Poverty Alleviation
3.71 / 5 7 Reviews
New Delhi, India
Ministry of Health and Family Welfare
3.67 / 5 6 Reviews
New Delhi, India
Ministry of Heavy Industries and Public Enterprises
3.00 / 5 5 Reviews
New Delhi, India
1.00 / 5 1 Reviews
Chennai, Tamil Nadu, India
Maharashtra State Road Transport Corporation
1.00 / 5 1 Reviews
Maharashtra, India
Ports and Transport
1.00 / 5 1 Reviews
Gujarat, India
Share To
Enter your email & mobile number and we will send you the instructions

Note - The email can sometime gets delivered to the spam folder, so the instruction will be send to your mobile as well

Please select a Circle that you want people to invite to.
Invite to
(Maximum 500 email ids allowed.)